Friday, 2 August 2019

डॉ. शालिनी गांधी ब्यूटी कॉन्टेस्ट के टाप पांच में


मिला मोस्ट ब्यूटीफुल आईज और फिटनेस अवॉर्ड
मथुरा। डॉक्टर को समाज में सेवाभावना का सूचक माना जाता है। लोगों की धारणा है कि एक चिकित्सक अपने पेशे के अलावा कुछ कर ही नहीं कर सकता लेकिन के.डी. मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर की डॉक्टर शालिनी गांधी ने अपने जुनून, जज्बे और कड़ी मेहनत से ओपेरा मिस एण्ड मिसेज इंडिया ग्लोबल-2019 के ब्यूटी कॉन्टेस्ट में टाप फाइव प्रतिभागियों में स्थान बनाकर एक नई इबारत लिख दी। डॉ. शालिनी गांधी ने ब्यूटी कॉन्टेस्ट में मोस्ट ब्यूटीफुल आईज और फिटनेस अवॉर्ड जीतकर अपने उज्ज्वल भविष्य की छाप जरूर छोड़ दी है।
नई दिल्ली के होटल आई.टी.सी. वेल्कम में हुई ओपेरा मिस एण्ड मिसेज इंडिया ग्लोबल-2019 के ब्यूटी कान्टेस्ट पर डॉ. शालिनी गांधी का कहना है कि स्टाइलिश कोई भी बन सकता है परन्तु उसके लिए एक जुनून, जज्बा व कड़ी मेहनत बहुत जरूरी है। ब्यूटी कॉन्टेस्ट में उन्हें कौन सा राउंड ज्यादा मुश्किल लगा, इस पर डॉ. शालिनी ने कहा कि राउंड तो सारे ही मुश्किल थे परन्तु मैंने हर राउण्ड में बेहतर प्रदर्शन करने के साथ ही पूछे गए हर प्रश्न का जवाब सोच-समझकर दिया।
डॉ. शालिनी गांधी का कहना है कि ब्यूटी कॉन्टेस्ट से पहले हुआ प्रशिक्षण सत्र बहुत ही थकाऊ रहा, चूंकि मेरे लिए यह पहला अवसर था, इसलिए थोड़ी घबराहट जरूर थी। डॉ. शालिनी गांधी का कहना है कि देश भर की 50 प्रतिभागियों में मैं अकेली डॉक्टर थी। डॉक्टर होने की वजह से दर्शकों ने मेरे हर राउण्ड को न केवल सराहा बल्कि मुझसे पूछे गये सवालों के जवाब सुनकर तालियां बजाने से भी अपने आपको नहीं रोक पाए।
डॉ. शालिनी गांधी ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय के.डी. मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के प्रबंधन को दिया। उन्होंने कहा कि प्रबंधन के प्रोत्साहन की वजह से ही मैं लीक से हटकर कुछ करने का साहस जुटा सकी। आर.के. एज्यूकेशन हब के चेयरमैन डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल, प्राचार्य डॉ. मंजू नवानी ने डॉ. शालिनी गांधी की इस उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बधाई दी।

No comments:

Post a comment